मुखपृष्ठ

wikishia से
विकी शिया
अहले बैत (अ.स.) के स्कूल का ऑनलाइन विश्वकोश, जिसका संबंद्ध अहले बैत वर्ल्ड असेंबली से है।
१,१३२ लेख / ३२,८४२ संपादन हिन्दी में

आज का निर्वाचित लेख

बक़ीअ का विनाश एक ऐसी घटना को संदर्भित करता है जो 1344 हिजरी में मदीना की घेराबंदी के बाद हुई थी, और बक़ी के कब्रिस्तान और उसकी क़ब्रों को मदीना के मुफ्तियों के फ़तवे और सऊदी न्यायाधीश शेख़ अब्दुल्लाह अल-बलीहद द्वारा नष्ट कर दिया गया था; जिनमें चार शिया इमामों: इमाम हसन (अ), इमाम सज्जाद (अ), इमाम बाक़िर (अ) और इमाम सादिक़ (अ) की क़ब्रें भी शामिल थीं। वहाबियों ने दो बार, पहली बार 1220 हिजरी में और दूसरी बार 1344 हिजरी में, मदीना के 15 मुफ्तियों के फ़तवे पर भरोसा करते हुए, क़ब्रों पर निर्माण के सर्वसम्मत निषेध और उन्हें नष्ट करने की आवश्यकता के आधार पर, बक़ीअ के मज़ारों और स्मारकों को नष्ट कर दिया। बक़ी के विनाश पर ईरान, इराक़, पाकिस्तान, पूर्व सोवियत संघ आदि में बहुत से लोगों और विद्वानों ने प्रतिक्रिया व्यक्त की। मुस्लिम पवित्र स्थानों के विनाश के जवाब में, उस समय की ईरानी सरकार ने एक दिन के सार्वजनिक शोक की घोषणा की, और परिणामस्वरूप, नए स्थापित देश सऊदी अरब को मान्यता देने के काम को तीन साल तक स्थगित कर दिया गया।

विनाश के बाद, बक़ी कब्रिस्तान एक समतल भूमि में बदल गया, लेकिन चार शिया इमामों की क़ब्रों को पत्थरों से चिह्नित किया गया है। शिया विद्वानों और ईरानी सरकार द्वारा बक़ी में दफ़्न इमामों की क़ब्रों पर छतरी बनाने और इसी तरह से क़ब्रों के चारों ओर एक दीवार बनाने के प्रयास सऊदी अरब सरकार के प्रारंभिक समझौते (सहमति) के बावजूद भी, कभी सफल नहीं हुए।

शिया विद्वानों ने बक़ी के विनाश का विरोध करने के अलावा, वहाबीवाद के सिद्धांतों और पवित्र स्थानों के विनाश की आलोचना करते हुए रचनाएँ लिखी हैं; जिनमें सय्यद मोहसिन अमीन द्वारा लिखी गई किताब कश्फ़ अल-इरतीयाब और मुहम्मद जवाद बलाग़ी द्वारा लिखित दावा अल-हुदा शामिल हैं। कहा जाता है कि वहाबी पहला समूह था जिसने अपने धार्मिक विचारों के आधार पर धार्मिक स्थलों को नष्ट किया।

पूरा लेख ...

अन्य विशेष रुप से प्रदर्शित लेख: उम्मे वलदआय ए सअला साइलअबू बक्र बिन हसन बिन अली (अ)

क्या आप जानते हैं ...
अनुशंसित लेख
  • उमरा « हज संस्कारों की तरह क्रियाओं का एक समूह है जो काबा के दर्शन पर जाने में किया जाता है। »
  • अम्बिया «वे लोग होते हैं जिनके द्वारा परमेश्वर मनुष्य को अपनी ओर आमंत्रित करता है।»
विषय सूची
श्रेणी Beliefs‎ नहीं मिली
श्रेणी Culture‎ नहीं मिली
श्रेणी Geography‎ नहीं मिली
श्रेणी History‎ नहीं मिली
श्रेणी People‎ नहीं मिली
श्रेणी Politics‎ नहीं मिली
श्रेणी Religion‎ नहीं मिली
श्रेणी Sciences‎ नहीं मिली
श्रेणी Works‎ नहीं मिली
विकी शिया भाषाएँ

EnglishFrançaisDeutschTürkçeEspañolРусскийBahasa IndonesiaKiswahiliItalianoBurmeseHausaThaiportuguêsТоҷикӣAzəricə中文বাংলাفارسیعربياردوپښتو